खरीफ फसल की बीमा राशि दिलवाने की मांग, काश्तकारों ने सौपा कलक्टर को ज्ञापन

0
376

हनुमानगढ़ । हिमांशु मिढ़ा तहसील नोहर के गांव ढण्ढेला के काश्तकारों ने शुक्रवार को जिला कलक्टर को खरीफ फसल मूगफली मुआवजा पर हुआ घोटाला के संबंध में ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में बताया कि वर्ष 2020 की खरीफ की फसल मूंग, मोठ, ग्वार का फसली बीमा बैंक व सीएससी ईमित्रा के माध्यम से करवाया था। फसल खरीफ 2020 की गिरदावरी देवीलाल राजस्व पटवारी द्वारा स्वयं व अपने एजेन्ट मदनलाल पुत्र रामकुमार नंदीवाल व भागीरथ पुत्र धनाराम मेघवाल निवासीगण दण्डेला के माध्यम से की, किन्तु इन लोगों ने बीमा इन्चार्ज तिलोकचन्द से मिलकर पुरे गाँव में मात्र 63 व्यक्तियों को ही बीमा का लाभ प्राप्त करवाया गया है और शेष काश्तकारों को बीमा लाभ से वंचित किया है जिन 63 व्यक्तियों को बीमा लाभ दिया गया है उनकी पटवारी हल्का ने गिरदावरी फर्जी तौर पर करते हुये उनके खेतों में मुंगफली की फसल गिरदावरी में दिखायी है जबकि इन खेतों में डिग्गी ट्यूबवेल नहीं बने है तथा नहरी मुंगफली की फसल यहाँ 2020 में किसी भी काश्तकार ने काश्त नहीं की है तथा जिनकी बीमा मिली है उसके भी मुगफली की फसल काश्त नहीं की हुई है और ना ही कोई काश्तकार मुगफली की फसल बोता है। इसके अलावा जिन लोगों का बीमा आया है वह उनकी कृषि भूमि से अधिक कृषि का आया है जबकि उन लोगों के नाम से राजस्व रिकार्ड में भूमि कम है इन लोगों ने अपराधिक षडयंत्र रचकर फर्जी दस्तावेजात झूठे स्टाम्प पेपर लेकर व अन्य दस्तावेजात की रचना फर्जी तौर पर करके हिस्से पाती व अन्य तरीके से फसल काश्त करना दिखाया है इस प्रकार इन चारों लोगों ने प्रार्थीगण काश्तकारान को फसल बीमा से जानबुझकर वंचित किया है और अपने चहते लोगों को अपने पद का दुरूपयोग करके फर्जी दस्तावेजात की रचना करके अनुचित रूप से बीमा का लाभ पहुंचाया है। और हमें बीमा लाभ से वंचित किया है इस बात को लेकर पूरे गाँव में आक्रोश उत्पन्न है काश्तकासन को 13600 रूपये मुआबजा के रूप में सालाना तौर पर प्राप्त होते हैं लेकिन इन लोगों ने अपने पद का दुरुपयोग करें ग्राम दण्ढेला के काश्तकारान को चित कर रखा है। उक्त चारों अप्रार्थीगण ने काश्तकारों के साथ धोखा यही करके अवैध रूप से गपला करेके मुआवजा राशि के संबंध में फर्जकारी करते आ रहे हैं। खरीफ फसली 2019-20 में ग्राम इण्डेला व टोपरिया दोनों गाँवों में ज्यादातर बिजाई ग्वार, बाजरा, मुग आदि होती है तथा बिजाई के बाद बरसात नहीं होने से फसल खराब हो गई उसका बीमा टोपरिया टुण्ढेला में नहीं आया चारो तरफ पड़ोसी गाँव भगवान, देईदास, ढाणी लालखों, श्योदानपुरा, खनानियां, दो चक इन्दिरा गाँधी से सिचित है, 14-16 आरडब्ल्यूडी, दण्डेला का आया है। इन गाँवो में बीमा आया तो गाँव ढण्ढेला में फसल बीमा आना चाहिए था लेकिन उक्त व्यक्तियों की साठ गाँठ के कारण ग्राम ढण्ढेला काश्तकारो को बीमा नही मिलने दिया। बीमा कम्पनी का ऐजेन्ट (1) तिलोकचन्द पुत्र श्री कनीराम जाति जाट निवासी ढण्ढेला बीमा कम्पनी ऐरिया मनैजर, (2) विक्रम सिंह जान्दु निवासी तलवाड़ा पटवारी दलाल (3) मदनलाल पुत्र रामकुमार नान्देवाला निवासी दण्ढेला. व (4) मागीरथ पुत्र धनाराम जाति मेघवाल निवासी ढण्ढेला व (5) राजस्व विभाग नोहर, व सम्बन्धित (6) बैंक अधिकारी बीरकाली, टोपरिया, थालड़का आदि ने मिलकर ग्राम दण्ढेला व अन्य नोहर तहसील के काफी गाँवो के काश्तकारों के साथ धोखा किया है। काश्तकारों ने जिला कलक्टर को ज्ञापन देकर खरीफ फसल 2019-2020 की बीमा राशि दिलवाई जाकर उक्त दोषीयों के खिलाफ विभागीय जाँच करवाई जावे उनके खिलाफ सख्त कार्यवाही करवाई जावे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here