मैं हरियाणा की बेटी, लेकिन स्पोर्ट्स पॉलिसी राजस्थान की शानदार : डॉ कृष्णा पूनिया

0
341

राजीव गांधी ग्रामीण ओलंपिक खेल अंतर्गत जिला स्तरीय प्रतियोगिताओं का शुभारंभ, राज्य क्रीड़ा परिषद अध्यक्ष डॉ कृष्णा पूनिया, वक्फ बोर्ड अध्यक्ष खानू खां बुधवाली, जिला कलक्टर सिद्धार्थ सिहाग, सभापति पायल सैनी सहित जनप्रतिनिधियों, अधिकारियों, खिलाड़ियों ने की शुभारंभ समारोह में शिरकत, कृष्णा पूनिया बोलीं-खेलों के विकास और खिलाड़ियों के कल्याण के लिए सरकार संकल्पबद्ध

चूरू। राजस्थान राज्य क्रीड़ा परिषद अध्यक्ष एवं सादुलपुर विधायक डॉ कृष्णा पूनिया ने कहा है कि राज्य सरकार खेलों के विकास एवं खिलाड़ियों के लिए कल्याण के लिए संकल्पबद्ध है और इस दिशा में राजस्थान में उल्लेखनीय कार्य किया गया है।
डॉ कृष्णा पूनिया गुरुवार को जिला मुख्यालय स्थित पुलिस लाइन में राजीव गांधी ग्रामीण ओलंपिक खेल अंतर्गत जिला स्तरीय प्रतियोगिताओं के शुभारंभ समारोह को बतौर मुख्य अतिथि संबोधित कर रही थीं। इस मौके पर उन्होंने खिलाड़ियों से कहा कि स्थानीय स्तर पर खेलने वाले हर खिलाड़ी की तमन्ना रहती है कि वह ‘इंडिया’ लिखी हुई टी-शर्ट पहनकर अपने देश के लिए खेले। आप लोग भी यह सपना लेकर चलें कि यह आपकी यह टी-शर्ट ‘इंडिया’ लिखी हुई टी-शर्ट में बदले। उन्होंने विश्वास जताया कि राजीव गांधी ग्रामीण ओलंपिक खेल से निकली प्रतिभाएं भी राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय स्तर पर खेलकर राजस्थान का गौरव बढाएंगी। उन्होंने कहा कि राजस्थान सरकार ने खिलाड़ियों को राष्ट्रीय पदक पर नौकरी, अंतरराष्ट्रीय पदक पर ऑफिसर लेवल की नौकरी, 25 बीघा कृषि भूमि, आवासीय भूखंड सहित खिलाड़ियों के प्रोत्साहन के लिए अनेक नवाचार शुरू किए हैं। राज्य के इतिहास में यह पहली बार हो रहा है कि विधानसभा में खेलों पर विस्तृत चर्चा हो रही है। विधायक अपने क्षेत्र के लिए स्टेडियम की मांग कर रहे हैं। राज्य में ब्लॉक स्तर पर मेजर ध्यानचंद के नाम से स्टेडियम बनाए जा रहे हैं। इन ग्रामीण ओलंपिक खेलों का ही परिणाम है कि अभिभावक भी बच्चों की खेल दिनचर्या को लेकर जागरुक होने लगे हैं। उन्होंने कहा कि मैं हरियाणा की बेटी हूं लेकिन खेल पॉलिसी राजस्थान की शानदार हैं। हरियाणा के खिलाड़ी अब राजस्थान से खेलने की इच्छा रखते हैं। उन्होंने शिक्षा को शेरनी का दूध बताते हुए कहा कि खेलों के साथ-साथ पढाई-लिखाई भी जरूरी है। उन्होंने कहा कि खेल आदमी को जीना सिखाता है। खिलाड़ी हार से डिपे्रशन में नहीं आता बल्कि आगे वाले मैच की तैयारी में जुट जाता है। उन्होंने मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना का जिक्र करते हुए कहा कि यह अद्भुत और उल्लेखनीय योजना है जिसका लाभ राजस्थान की गरीब जनता को मिल रहा है।

ग्रामीण ओलंपिक से बना खेलों के प्रति माहौल

राजस्थान वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष डॉ खानूखान बुधवाली ने राजस्थान ग्रामीण ओलंपिक खेलों की पहल के लिए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और क्रीड़ा परिषद अध्यक्ष डॉ कृष्णा पूनिया को साधुवाद देते हुए कहा कि इससे पूरे राजस्थान में खेलों के प्रति एक माहौल बना है। उन्होंने अपने अनुभव साझा करते हुए कहा कि आज शिक्षा और खेलकूद के लिए सरकार भरपूर संसाधन मुहैया करवा रही है। युवाओं को इन योजनाओं के बारे में जानकारी रखनी चाहिए और इनका लाभ उठाना चाहिए।

पूरे राज्य में उत्साह और ऊर्जा का माहौल

सभापति पायल सैनी ने कहा कि कोरोना महामारी के कारण पिछला कुछ समय बहुत खराब रहा लेकिन अब राज्य सरकार की इस पहल के चलते पूरे राज्य में उत्साह और ऊर्जा का माहौल है। उन्होंने कहा कि खेल प्रत्येक व्यक्ति की दिनचर्या का हिस्सा होना चाहिए। खेल व्यक्ति को समन्वय और टीम वर्क सिखाता है। उन्होंने कहा कि प्रतियोगिता के लिए खेलों का जोरदार चयन किया गया है तथा राजस्थान ओलंपिक खेलों के जरिए पारंपरिक खेलों को बल मिला है। एसीईओ हरी राम चौहान ने स्वागत उद्बोधन दिया। सीडीईओ संतोष महर्षि ने आभार जताया।
इस दौरान जिला कलक्टर सिद्धार्थ सिहाग, एडीएम लोकेश गौतम, एसडीएम सत्यनारायण सुथार, जिला खेल अधिकारी सीताराम प्रजापत, पूर्व प्रधान निर्मला सिंघल आदि भी मंचस्थ थे। बीडीओ संत कुमार मीणा ने आयोजकीय व्यवस्था में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाई। संचालन उम्मेद गोठवाल ने किया।

ये भी रहे मौजूद

इस दौरान रोजगार अधिकारी वर्षा जानू, राजीविका डीपीएम दुर्गा देवी, सहायक निदेशक (जनसंपर्क) कुमार अजय, अतिरिक्त विकास अधिकारी आनंद शर्मा, सहायक विकास अधिकारी प्रेम सिंह, सोहन लाल धायल, नियाज मोहम्मद, एडीईओ सांवर मल गुर्जर, जमील चौहान, महावीर नेहरा, आसिफ खान, विकास मील, हेमंत सिहाग, पार्षद शाहरूख खान, डॉ एफएच गौरी, रामसिंह सिहाग, विजय पाल धुंआ, सफी मोहम्मद गांधी, रामचंद्र गोयल, मसदुल हक, सुनील आत्रेय, विनोद तिवारी, मनोज सांकृत्य, गोविंद शर्मा, जयचंद भाटी, रविंद्र, महावीर डूडी, जुगल किशोर, मंजू डूडी, मंजू कस्वां, श्रीनिवास धायल आदि मौजूद थे।

सांस्कृतिक प्रस्तुतियों ने मन मोहा

कार्यक्रम के दौरान इंटरनेशनल ट्रम्पेट प्लेयर आमिर भियाणी और अन्य कलाकारों की सांस्कृतिक प्रस्तुतियां आकर्षण का केंद्र रही। आमिर भियाणी ने रघुपति राघव राजा राम… पर ट्रम्पेट धुन से सांस्कृतिक प्रस्तुतियों का आगाज किया तो नन्हीं लाडो ने ‘रंगीलो म्हारो ढोलणा…’ से प्रभावित किया। राजकीय बालिका उमावि की यासिका निर्वाण ने घूमर नृत्य की जोरदार प्रस्तुति दी। रेणु ने ‘देश मेरा रंगीला’ पर आकर्षक नृत्य प्रस्तुत किया। आमिर भियाणी ने ‘भारत का रहने वाला हूं, भारत की बात सुनाता हूं…’, आईपीएल धुन तथा ‘दिल दिया है जान भी देंगे ऎ वतन तेरे लिए…’ की दमदार प्रस्तुतियों से दिल जीता। डॉ कृष्णा पूनिया ने भियाणी की ओर से बनाई गई ‘राजीव गांधी ग्रामीण ओलंपिक खेल’ धुन लॉन्च की।

हॉकी खेलकर किया शुभारंभ

डॉ कृष्णा पूनिया एवं डॉ बुधवाली ने हॉकी स्टिक से शॉट लगाकर एवं वॉलीबॉल सर्विस कर शुरुआती मैचों का शुभारंभ किया। हॉकी का शुभारंभ मैच (महिला वर्ग) तारानगर व राजगढ़ की टीमों के मध्य खेला गया, वहीं शूटिंग वॉलीबॉल का शुभारंभ मैच (पुरुष वर्ग) रतनगढ़ व बीदासर की टीमों के बीच खेला गया। इस दौरान सूचना एवं जनसंपर्क विभाग की ओर से फ्लैगशिप योजनाओं, ग्रामीण ओलंपिक एवं सुजस पत्रिका आदि साहित्य का वितरण किया गया। इससे पूर्व मंचस्थ अतिथियों का माल्यार्पण व साफा पहनाकर स्वागत किया गया। डॉ पूनिया एवं अन्य अतिथियों ने ध्वजारोहण किया और खेलों के आरंभ की घोषणा की। खिलाड़ी शारदा ने सभी खिलाड़ियों को खेल भावना की शपथ दिलाई।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here