भरतिया अस्पताल की बत्ती गुल, मरीज होते रहे परेशान

0
1087

चूरू। ए श्रेणी के राजकीय डीबी जनरल अस्पताल में बाधित विद्युत आपूर्ति के चलते मरीजों को घंटो परेशानी का सामना करना पडा। चिकित्सकों को जंहा कमरों के बाहर टेबिल डालकर रोगीयों की जांचे करनी पडी वहीं भर्ती रोगीयों को परेशानी का सामना करना पडा, इतना ही नही बाधित विद्युत आपूर्ति के चलते बुधवार को होने वाले आॅपरेशन भी टालने पडे और लेबोरेट्री में जांचे भी नही हो पाई।जानकारी के अनुसार अस्पताल को विद्युत सप्लाई करने वाले ट्रांसफॉर्मर की मुख्य केबल जल जाने के कारण अस्पताल की विद्युत आपूर्ति बाधित हो गई थी जो बुधवार दोपहर तक यथावत रही। अस्पताल प्रशासन ने रोगीयों को सुविधा मुहैया करवाने के लिए जेनरेटर से विद्युत आ​पूर्ति सुचारू करने का प्रयास किया लेकिन भीषण गर्मी के चलते बुधवार सुबह साढे दस बजे उसने भी जवाब दे दिया। इसके बाद वार्ड में भर्ती तथा ओपीडी में आए हुए मरीजों को परेशानी का सामना करना पडा।
बाधित विद्युत आपूर्ति के चलते आपातकालीन वार्ड, आॅपरेशन थियेटर, आयसीयू, लेबोरेट्री, सोनोग्राफी, एक्स—रे, मेडिकल व सर्जिकल वार्ड, रोगी पंजीयन, निशुल्क दवा वितरण, ओपीडी सहित भामाशाह काउंटर बुरी तरह प्रभावित थे। रोगी पंजीन काउंटर पर कार्यरत कार्मिकों ने काउटंर के बाहर खुले में पर्ची बनाने का काम किया वहीं भीषण गर्मी के चलते चिकित्सों ने भी अपनी टेबिल बिल्डिंग के बाहर निकाल कर मरीजों की जांच की। वार्ड में भर्ती रोगीयों और उनके परिजनों को भी परेशानियों का सामना करना पडा, रोगीयों के परिजनों ने गत्ते व अखबार आदि से हवा करते हुए रोगीयों को राहत पंहुचाने का प्रयास किया।
पीएमओ डॉ. जेएन खत्री ने बताया कि ट्रांसफार्मर की केबल जल जाने से ये सारी परेशानी हुई है। सूचना मिलते ही सम्बन्धित कार्मिकों को मौके पर भिजवा दिया गया है। प्रभावित केबल को बदल दिया गया है जल्द ही अस्पताल की विद्युत आ​पूर्ति सुचारू करवा दी जाएगी।

https://www.youtube.com/watch?v=LBQBXC2Ffrs&t=21s

वरिष्ठ सर्जन डॉ. शंकर सिंह गौड़ ने बताया कि भीषण गर्मी के चलते चिकित्सकों द्वारा कमरेां से बाहर टेबिल निकाल कर मरीजों की जांच की गई है। बिना बिजली के जो भी काम हो सकते है वे किए जा रहे है, इमरजेंसी वाले सभी काम सुचारू है जांचे आज नही हो पाई जो कल करवा दी जाएगी।

https://www.youtube.com/watch?v=T6RKxvGvHpw

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here