हो प्रभावी मॉनीटरिंग, डीएमएफटी की राशि का विकास कार्यो में हो समुचित उपयोग

0
446

चूरू।जिला कलक्टर साँवर मल वर्मा की अध्यक्षता में बुधवार को डिस्टि्रक्ट मिनरल फाउंडेशन ट्रस्ट की गवर्निंग कॉन्सिल की बैठक का आयोजन कलक्ट्रेट सभाागार में किया गया। बैठक में ट्रस्ट द्वारा पूर्व में स्वीकृत कायोर्ं की गहनता से समीक्षा की गई एवं प्रभावी मॉनीटरिंग कर डीएमएफटी फंड से विकास कार्यों पर खर्च होने वाली राशि के अधिकतम सदुपयोग पर बल दिया गया।
बैठक में सांसद राहुल कस्वां, चूरू विधायक राजेंद्र राठौड़, रतनगढ़ विधायक अभिनेष महर्षि, सुजानगढ़ विधायक मनोज मेघवाल, तारानगर प्रधान संजय कस्वां ने विभिन्न विकास कार्यों पर चर्चा की और कहा कि फंड से होने वाले कार्यों के संबंध में समुचित गाइडलाइन उपलब्ध करवाएं तथा संबंधित जनप्रतिनिधियों से विकास कार्यों के प्रस्ताव दोबारा आमंत्रित करें। डीएमएफटी सदस्य दिलावर खान, लोढ़सर सरपंच कन्हैयालाल शर्मा, बालेरा सरपंच सुरेन्द्र सिंह, विद्याधर बेनीवाल, कल्याण सिंह शेखावत, अब्दुल रसीद, गजेसिंह सूरतपूरा, सुरेन्द्र कुमार राव आदि सदस्यों ने उपयोगी सुझाव दिए। बैठक में सीईओ रामनिवास जाट, कोषाधिकारी रामधन, सानिवि एसई शिशपाल सिंह, पीएचईडी एसई जेआर नायक, आईसीडीएस डीडी सीमा सोनगरा, एसीएफ राकेश दुलार आदि उपस्थित रहे।सहायक खनिज अभियंता सोहन लाल गुरु ने बताया कि बुधवार को हुई बैठक में स्टेट मिनरल फण्ड से स्वीकृत चूरू-तारानगर सड़क (कि.मी. 0/0 से 25 / 00) का चौड़ाईकरण एवं सुदृढीकरण कार्य राशि 16 करोड़ रूपये का अनुमोदन सर्वसम्मति से किया गया। इसी प्रकार डीएमएफटी फंड चूरू से सिलिकोसिस बीमारी से पीड़ित/मृतक श्रमिकों को दी गई सहायता राशि 23 लाख रूपये का अनुमोदन किया गया। साथ ही कोविड- 19 महामारी के प्रभावी नियंत्रण एवं रोकथाम के लिए जिला अस्पताल चूरू में स्वीकृत कार्य 25 ऑक्सीजन गैस सिलेन्डर, पीने के पानी के टैंक का निर्माण, ट्रोमा वार्ड में 23 ऑक्सीजन आउटलेट मय ऑक्सीजन फ्लोमीटर स्थापित करवाने, पुराना जेएसएसके वार्ड में 22 ऑक्सीजन आउटलेट मय ऑक्सीजन फ्लोमीटर स्थापित करवाने, पीने के पानी का आपणी योजना का टैंक कनेक्शन, आईसोलेशन वार्ड में विद्युत कनेक्शन से संबंधित आदि कुल 7 कार्यो को आंवटित राशि 29 लाख 70 हजार 881 का अनुमोदन किया गया। उन्होंने बताया कि डीएमएफटी में 51 कायोर्ं की रूपये 627.51 लाख की प्रशासनिक स्वीकृति आज तक जारी की गई, जिनमें से 48 कायोर्ं में रुपये 493.10 लाख की वित्तीय स्वीकृति जारी की गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here