लाडनूं में अब काॅलेज छात्राओं को सिखाई जायेगी घुड़सवारी

0
1042

आचार्य कालू कन्या महाविद्यालय ने अन्य गतिविधियों में घुड़सवारी को जोड़ा

लाडनूं। जैन विश्व भारती संस्थान मान्य विश्वविद्यालय के आचार्य कालू कन्या महाविद्यालय में अध्ययनरत छात्राओं के सर्वांगीण विकास के लिये विविध गतिविधियांे का नियमित रूप से संचालन किया जाता है। अब उन्हीं गतिविधियों में घुड़सवारी भी शामिल होने जा रही है। महाविद्यालय के प्राचार्य प्रो. आनन्द प्रकाश त्रिपाठी ने बताया कि घुड़सवारी विद्या छात्राओं की रूचि के अनुसार सिखाई जायेगी। इसके लिये कुलपति प्रो. बच्छराज दूगड़ की स्वीकृति प्राप्त की जा चुकी है। उन्होंने कुलपति के प्रति आभार ज्ञापित करते हुये बताया कि उनकी प्रेरणा से इस महिला महाविद्यालय में छात्राओं के सम्पूर्ण विकास पर पूरा ध्यान दिया जाता है तथा विविध गतिविधियों का संचालन किया जाता है। प्रो. त्रिपाठी ने बताया कि यहां एन.सी.सी. के माध्यम से राष्ट्र-सेवा और एन.एस.एस. के माध्यम से समाज सेवा और कॅरियर काउंसलिंग सेल के माध्यम से व्यक्तित्व विकास एवं कॅरियर गाईडेंस प्रदान किया जाता है। इस सम्बंध में महाविद्यालय में स्थापित ज्ञान केन्द्र भी बहुत उपयोगी सिद्ध हो रहा है, जिसमें आई.ए.एस., आर.ए.एस. एवं अन्य विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं के लिये विभिन्न पत्र-पत्रिकाओं, प्रतियोगिताओं सम्बंधी पुस्तकों आदि को उपलब्ध करवाया गया है। समय-समय पर कॅरियर सम्बंधी विशेष व्याख्यानों द्वारा मार्गदर्शन प्रदान किया जाता है तथा छात्राओं को भावी कॅरियर के लिये तैयार किया जाता है। इन सबके अलावा यहां अनेक क्लबों का गठन करके छात्राओं के सर्वांगीण विकास के लिये प्रयत्न किया जा रहा है, इनमें लेखन क्षमता, वक्तृत्व क्षमता, नृत्य क्षमता, खेल क्षमता आदि के विकास के लिये महाप्रज्ञ क्लब, महाश्रमण क्लब, विवेकानन्द क्लब, अपर्णा सेन क्लब, सोनल मानसिंह क्लब आदि का गठन किया गया है। हर गुरूवार को इन क्लबों की गतिविधियां छात्राओं की रूचि के अनुरूप संचालित की जाती है। प्रो. त्रिपाठी ने बताया कि महाविद्यालय में चरित्र निर्माण, यूथ फेस्टिवल के माध्यम से रचनात्मक गतिविधियों के विकास तथा समय-समय पर मार्शल आर्ट के माध्यम से आत्मरक्षा के उपायों का प्रशिक्षण छात्राओं को जीवन में आगे बढने के लिये तैयार करने में सहायक सिद्ध होती है। उन्होंने बताया कि अब इस महाविद्यालय में घुड़सवारी का प्रशिक्षण दिया जायेगा, जो उनके जीवन में उपयोगी साबित होगा। घुड़सवारी में रूचि रखने वाली छात्रायें इसके लिये अपना नाम लिखवा सकती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here