जैविभा विश्वविद्यालय के योग प्रदर्शन को यूजीसी ने लिया अपनी वेबसाईट पर

0
1223
लाडनूं के जैन विश्व भारती विश्वविद्यालय के योग प्रदर्शन का चित्र, जो यूजीसी की आॅफिसियल वेब साईट पर लगाया गया है।

लाडनूं। विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) ने अपनी वेब साईट के होम पेज पर जैन विश्व भारती संस्थान (मान्य विश्वविद्यालय) के योग एवं जीवन विज्ञान विभाग के विद्यार्थियों द्वारा करवाये गये योगाभ्यास को महत्व दिया है। यूजीसी ने अपनी वेब साईट डब्लूडब्लूडब्लू डाॅट यूजीसी डाॅट एसी डाॅट इन के होमपेज पर दी गई स्लाइड में इस विश्वविद्यालय के योगाभ्यास के योग-प्रदर्शन का फोटो अपलोड किया है। यह इस विश्वविद्यालय के लिये गौरव समझा जा रहा है कि यूजीसी ने इसे इतना महत्व प्रदान किया है। जैन विश्व भारती विश्वविद्यालय में शिक्षित-प्रशिक्षित विद्यार्थी देश-विदेश में योग और धर्म व दर्शन का प्रचार-प्रसार कर रहे हैं तथा विभिन्न सरकारी व गैर सरकारी संस्थानों में उच्च पदों पर योग-शिक्षा प्रदान कर रहे हैं, जिनमें पुलिस व सेना भी शामिल है। गौरतलब है कि जैन विश्व भारती विश्वविद्यालय देश की संस्कृति, प्राच्य विद्याओं, धर्म व दर्शन, प्राच्य भाषा, योग व जीवन विज्ञान, अहिंसा एवं शाति आदि के अध्ययन व शोध लिये समर्पित मिशन के रूप में संचालित किया जा रहा है। राजस्थान पुलिस के पूर्व महानिदेशक डा. मनोज भट्ट ने भी योग को अपना विषय चुनते हुये यहां से अपनी शोध सम्पन्न करके पीएचडी की डिग्री प्राप्त की है।

आचार्य कालू कन्या महाविद्यालय में 5 जून से प्रवेश प्रारम्भ

लाडनूं। जैन विश्व भारती संस्थान (मान्य विश्वविद्यालय) के अन्तर्गत आचार्य कालू कन्या महाविद्यालय के प्राचार्य प्रो. आनन्द प्रकाश त्रिपाठी ने बताया कि महाविद्यालय में सत्र 2018-19 के लिये प्रवेश प्रक्रिया 5 जून से प्रारम्भ की जा रही है। सीनियर सैकेंडरी उतीर्ण छात्रायें यहां कला, वाणिज्य या विज्ञान संकायों में प्रवेश ले सकती है। उन्होंने बताया कि महाविद्यालय में बी.ए., बी. काॅम. तथा बी.एससी. की नियमित कक्षायें संचालित की जाती है। महाविद्यालय में छात्राओं के लिये उच्च स्तरीय सुविधाओं से युक्त छात्रावास सुविधा है तथा छात्राओं को आस पास के सभी गांवों से लाने व पहुंचाने के लिये नियमित वाहनों की सुविधा भी उपलब्ध है। उन्होंने बताया कि सुजानगढ से इस सत्र में नया प्रवेश लेने वाली छात्राओं के लिये निःशुल्क बस सुविधा रखी गई है। इसके अलावा महाविद्यालय में आधुनिक उपकरणों से सुसज्जित प्रयोगशालायें, स्मार्ट क्लासेज की व्यवस्था, विशाल केन्द्रीय पुस्तकालय, बुक बैंक, ज्ञान केन्द्र, क्लबों द्वारा अभिरूचि व क्षमता विकास की सुविधा, जिम्नेजियम, इनडोर व आउटडोर खेल सुविधायें, विशाल आधुनिकतम आॅडिटोरियम, वाई-फाई सुविधा युक्त केम्पस, हरीतिमा युक्त व सुन्दर प्राकृतिक वातावरण, सीसी टीवी कैमरों से चाक-चैबंद सुरक्षा-व्यवस्था, एन.सी.सी. एवं एन.एस.एस आदि की सुविधायें उपलब्ध हैं, जिनसे छात्राओं का सर्वांगीण विकास संभव होता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here