योग एवं ध्यान शिविर के पहले दिन योग ऋषि स्वामी रामदेव ने कराया योगभ्यास

0
1304

जनप्रतिनिधि और अधिकारियों सहित विशाल जनसमूह ने किया योगाभ्यास

कोटा। राज्य सरकार और पंतजलि योगपीठ के संयुक्त तत्वाधान में मंगलवार को कोटा जिले के आरएसी ग्राउंड में योग एवं ध्यान शिविर के पहले दिन योग ऋषि स्वामी रामदेव द्वारा योगाभ्यास कराया गया। इस दौरान जनप्रतिनिधि, अधिकारियों सहित बड़ी संख्या में विशाल जनसमूह ने योगाभ्यास किया।
स्वामी रामदेव द्वारा सूक्ष्म यौगिक क्रियाएं, विभिन्न योगासन और प्राणायाम कराए। इस दौरान उन्होंने कहा कि योग को अपनी जीवनशैली का हिस्सा बनाएं, जिससे बीमारियां तो दूर रहेंगी ही, हम स्वस्थ भी रहेंगे। उन्होंंने कहा कि युवा अवस्था से ही योग अभ्यास करने से याददाश्त बढ़ने के साथ तन और मन भी प्रसन्न रहता है, कोटा शिक्षा नगरी के रूप में देश भर में विख्यात है विद्यार्थी तनावमुक्त जीवन के लिए नियमित योग को अपनाऎं। उन्होंने राज्य सरकार और सह आयोजकों को इस कार्यक्रम की व्यवस्थाओं के लिए धन्यवाद ज्ञापित किया।
इस अवसर पर कृषि मंत्री डॉ. प्रभुलाल सैनी ने कहा कि अब कोटा शिक्षा नगरी के साथ योग नगरी के रूप में जाना जाएगा। उन्होंने कहा कि इस योग शिविर का लाभ कोटा के नागरिकों के साथ यहां कोचिंग संस्थानों में अध्ययनरत छात्रों को भी मिलेगा। उन्होंने कहा कि देश की बड़ी आबादी जीवनशैली जनित बीमारियाें यथा डायबिटीज, हाई ब्लड प्रेसर, हाइपर टेंशन से पीड़ित होती जा रही है इनसे बचाव के लिए योग उपयोगी सिद्ध होता जा रहा है। उन्होंने योग को जन-जन तक पहुंचाने के लिए पतंजलि समिति के प्रयासों की सराहना करते हुए स्वामी रामदेव का आभार जताया।
कोटा जिला कलक्टर गौरव गोयल ने कहा कि यह आयोजन कोटा के लिए अनूठा अवसर है। रात में आए अंधड और तूफान के बावजूद इस शिविर का पहला दिन बेहत सफल रहा है। उन्होंने आमजन से आह्वान किया 21 जून के कार्यक्रम में प्रवेश के समय बारकोड लेकर ही प्रवेश करें, योगाभ्यास के दौरान मोबाईल का उपयोग नहीं करें तथा बैठक के लिए बनाये गये ब्लॉक में ही योग क्रिया करें।
स्वामी रामदेव ने कार्यक्रम में कृषि मंत्री डॉ. प्रभुलाल सैनी, सांसद ओम बिड़ला, विधायक प्रहलाद गुंजल, हीरालाल नागर, संदीप शर्मा, यूआईटी अध्यक्ष रामकुमार मेहता को स्मृति चिन्ह भी प्रदान किया। इस दौरान नगर निगम महापौर महेश विजय, पुलिस अधीक्षक अंशुमान भौमिया सहित बड़ी संख्या में अधिकारी, शहर के गणमान्य नागरिक, विभिन्न कोचिंग संस्थानों के विद्यार्थी, पंतजलि के कार्यकर्ता और बड़ी संख्या में आम नागरिक उपस्थित थे।

विद्यार्थी रहेें तनाव मुक्त
स्वामी रामदेव ने कहा कि कोटा में देश के विभिन्न राज्यों से आए लाखों विद्यार्थी कोचिंग संस्थानों में पढ़ने आते हैं। कोटा की पहचान देश को अच्छे इंजीनियर एवं डॉक्टर देने के लिए बन गई है। उन्होंने कहा कि कुछ विद्यार्थी पढ़ाई के दौरान तनाव में आ जाते हैं, ऎसे में योग उनके लिए एकाग्रता और याद्दाश्त को बढ़ाने में रामबाण साबित होगा। उन्होंने विद्यार्थियों को योग क्रियाओं के माध्यम से तनाव मुक्त के टिप्स दिए।

गोरखनाथ सर्किल का लोकार्पण
योग शिविर के मंच से ही स्वामी रामदेव द्वारा नगर विकास न्यास द्वारा विकसित नाथ सम्पद्राय के योग ऋषि गुरू गोरखनाथ के नाम पर बनाए गए सर्किल का लोकार्पण भी किया। इस दौरान उन्होंने गोरखनाथ को महर्षि पतंजलि और कणाद के बाद योग के प्रचार-प्रसार में महती भूमिका निभाने वाला संत बताया। कार्यक्रम में गोरखनाथ पीठ के साधुआें द्वारा स्वामी रामदेव को सम्मानित भी किया गया। इस अवसर पर नगर विकास न्यास के अध्यक्ष रामकुमार मेहता सहित जनप्रनिधि भी उपस्थित थे।

रिकार्ड धारियों का सम्मान
स्वामी रामदेव द्वारा विभिन्न यौगिक क्रियाओं में विश्व रिकॉर्ड बनाने पर प्रमाणपत्र देकर सम्मानित किया। इस अवसर पर गोल्डन बुक ऑफ रिकॉर्ड संस्था के एशिया हैड मनीष विश्नोई भी उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here