जिलों के निर्माण में बजट ऊंट के मुंह में जीरे के समान-राजेन्द्र राठौड़

0
1173

प्रेस कॉन्फ्रेंस में बोले विधानसभा नेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़

चूरू। जिला मुख्यालय पर स्थानीय विधायक आवास पर शनिवार को प्रदेश कांग्रेस सरकार की विभिन्न नाकामियों को लेकर प्रेस कॉन्फ्रेस में नेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़ ने मुख्यमंत्री द्वारा प्रदेश में 19 जिलो की घोषणा करने के विषय पर कहा कि मुख्यमंत्री ने अपनी बजट घोषणा में नए जिलो के निर्माण के लिए 2 हजार करोड़ रुपए का प्रावधान किया था जो कि 19 जिलो के लिए ऊंट के मुंह में जीरे के समान है।

उन्होंने मुख्यमंत्री के स्वास्थ्य को लेकर चर्चा करते हुए कहा कि वे मुख्यमंत्री के शीध्र ही स्वस्थ होने की कामना करते हैं परन्तु अंगुठों में फ्रेक्चर होने पर इतने दिनों तक उनका स्वस्थ नहीं होना राजस्थान के चिकित्सा व्यवस्था पर प्रश्न चिन्ह लगाता है। उन्होंने कहा कि मैने मुख्यमंत्री से कहा है कि अगर वे चाहे तो केन्द्रीय स्वास्थय मंत्री से बात कर उनके स्वास्थ के लिए एम्स जैसे संस्थानों में बात की जाये। उन्होंने कांग्रेस द्वारा पूछे गए चुनाव में किसका चेहरा विषय का जबाब देते हुए कहा कि भाजपा एक लोकतांत्रिक पार्टी है एवं जरूरत के अनुसार इसका निर्णय कर लिया जायेगा परन्तु कांग्रेस यह बताये कि पिछले चुनाव में सचिन पायलट का चेहरा था परन्तु मुख्यमंत्री चेहरा चुराकर स्वयं सत्ता में बैठने में सफल हो गये। उन्होंने कोटड़ी में हुए एक मासूम बालिका के साथ बलात्कार एवं उसे जलाकर मारने की विभत्स घटना की निंदा करते हुऐ कहा कि प्रदेश में कानून का इकबाल खत्म हो गया है और मासूम बच्चियों पर अत्याचार किए जा रहे हैं ।
उन्होंने भीलवाड़ा में मासूम बच्ची की पानी की बोतल में पेशाब पिलाने की धटना को दुर्भाग्यपूर्ण बताया और कहा कि जब भाजपा युवा मोर्चा के कार्यकर्ता इसका विरोध करते हैं तो उनपर जबरदस्त लाठियों से प्रहार किया जाता है परन्तु भाजपा कार्यकर्ता डरने वाला नही है। उन्होंने मुख्यमंत्री को गृहमंत्री के रूप में नाकाम बताते हुए कहा कि प्रदेश में 50 प्रतिशत से अधिक मामलो में एफआर लगना कानून की स्थिति को बताता है। कांग्रेस को भ्रष्टाचार की गंगोत्री बताते हुए राठौड़ ने कहा कि प्रदेश में मैयर के पति रिश्वत मामले में गिरफ्तार किये जा रहे हैं। उन्होंने आगामी 10 अगस्त से मुख्यमंत्री द्वारा 40 लाख महिलाओं को र्स्माट फोन वितरित करने पर कहा कि मुख्यमंत्री ने एक करोड़ 39 लाख महिलाओं को र्स्माट फोन देने की बात कही थी जो अब घट कर 40 लाख हो गई है उसमें भी आउट डेटेड फोन दिये जायेगे और इसमें भ्रष्टाचार की बू आती है। उन्होंने स्थानीय नगरपरिषद् पर आरोप लगाते हुए कहा कि यह चूरू का दुर्भाग्य है कि इस कार्यकाल में अब तक 19 से अधिक आयुक्त बदले जा चुके हैं। नगरपरिषद की कार्यशैली पर अंगुली उठाते हुए राठौड़ ने कहा कि नगरपरिषद की नाकामी से आज चूरू शहर गंदगी का ढेर बन गया है जो की दुर्भाग्यपूर्ण है। उन्होंने लाल डायरी का जिक्र करते हुए कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि प्रदेश सरकार के मंत्री ने सरकार पर भ्रष्ट होने का आरोप लगाया है। पूर्व मंत्री राजेन्द्र गुढा की प्रशंसा करते हुए राठौड़ ने कहा कि मुख्यमंत्री ने भरी सभा में कहा था कि यदि यह नहीं होते तो में मुख्यमंत्री नहीं होता परन्तु अब यह लाल डायरी का जिन्न मुख्यमंत्री को परेशान किए हुए है। पूर्व मंत्री ने कहा है कि पहले मुझे रसगुल्ला खिलाया गया अब मुक्का खिलाया जा रहा है। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि पट्टा अभियान चलाया गया था परन्तु पट्टा उन्हीं लोगों को दिया जा रहा है जो सुविधा शुल्क देते हैं। उन्होंने पिछले कई दिनो से चूरू में हो रही चोरियों के संदर्भ में कहा कि इससे पुलिस प्रशासन की नाकामी का पता लगता है। उन्होंने मांग की कि शीघ्र ही इन चोरों का पता लगाकर आमजनता को राहत पहुंचाई जाये। इस अवसर पर पूर्व जिला प्रमुख हरलाल सहारण, प्रदेश मंत्री डॉ.वासुदेव चावला, पूर्व जिलाध्यक्ष बसंत शर्मा, जिला उपाध्यक्ष चन्द्राराम गुरी, मण्डल अध्यक्ष दीनदयाल सैनी, सुरेश सारस्वत, उपजिला प्रमुख महेन्द्र न्यौल, नेता प्रतिपक्ष विमला गढ़वाल, सोशल मीडिया जिला सहसंयोजक सुरेश मिश्रा, मोहनलाल गढ़वाल, जिला मीडिया सहसंयोजक नीरज जांगिड़, जिला प्रवक्ता दिनेश शर्मा, भाजयुमो जिलाध्यक्ष गोपाल बालाण, जिला मंत्री सुशील लाटा, सुनील ढाका, रामचन्द्र शर्मा व अश्विनी बुडानिया सहित अनेक कार्यकर्ता उपस्थित थे।

CHURU : राजीव गांधी ग्रामीण एवं शहरी ओलंपिक खेलों का आगाज

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here