जनजागरूकता अभियान से होगा टोबेको फ्री चूरू- जिला कलक्टर

0
424

‘जिंदगी को चुने – तम्बाकू को नहीं’ विषय पर हुई लाईव वेबिनार से जुड़े जिला कलक्टर सांवर मल वर्मा, एसपी नारायण टोगस, अभिनेता ख्याली सहारण सहित कई अधिकारी, चिकित्सा विभाग, संप्रीति संस्थान, फिल्मस्थान एवं ओएसिस सैनिक स्कूल के संयुक्त सौजन्य से हुआ आयोजन

चूरू। राष्ट्रीय तम्बाकू निषेध दिवस की पूर्व संध्या पर रविवार को आयोजित लाईव वेबिनार में जिला कलक्टर सांवरमल वर्मा ने कहा कि तम्बाकू सेवन के खिलाफ जागरूकता की आवश्यकता है। तम्बाकू पदाथोर्ं के सेवन से होने वाले दुष्प्रभाव से आमजन को जागरुक किया जाना ही इसका उपाय है। जागरुकता अभियान से ही टोबेको फ्री चूरू बन सकेगा।
चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग तथा संप्रीति संस्थान, फिल्मस्थान एवं ओएसिस सैनिक स्कूल के तत्वावधान में सोशल मीडिया हैंडल्स फेसबुक व यूट्यूब पर ‘जिंदगी को चुने – तम्बाकू नहीं’ विषय पर हुए लाइव वेबिनार में हास्य क्षेत्र से जुड़े अभिनेता ख्याली सहारण ने तम्बाकू से होने वाले दुष्परिणाम व नकारात्मक प्रभाव के बारे में बताया। जिला कलक्टर ने बताया कि इस दिन का उद्देश्य तम्बाकू पदार्थो के सेवन से होने वाले दुष्प्रभाव और नकारात्मक स्वास्थ्य प्रभावों की ओर ध्यान आकर्षित करना है। तंबाकू से बहुत सारी बीमारियां होती है। अल्सर, माउथ कैंसर ,फेफड़े का कैंसर और किडनी खराब जैसी बीमारियां इससे होती है तथा यह हृदय को भी क्षति पहुंचाता है जिसकी वजह से हार्ट अटैक की संभावना बढ़ जाती है। वर्तमान में दुनिया भर में हर साल 70 लाख से अधिक मौतों का कारण तम्बाकू पदाथोर्ं के सेवन से होने वाली बीमारियां है। 1988 में, विश्व स्वास्थ्य सभा द्वारा 31 मई को हर साल विश्व तंबाकू निषेध दिवस के रूप में मनाया जाता है। देश में तम्बाकू पदाथोर्ं की रोकथाम के लिये भारत सरकार ने मई 2003 में कानून पारित किया था। इस कानून को सिगरेट और अन्य तंबाकू उत्पाद (विज्ञापन का प्रतिषेध और व्यापार तथा वाणिज्य, उत्पादन, प्रदाय और वितरण का विनियमन) अधिनियम ( कोटपा एक्ट) नाम दिया गया। राजस्थान में राज्य सरकारी की महत्वकांक्षी फ्लेगशिप योजना निरोगी राजस्थान में राष्ट्रीय तम्बाकू नियंत्रण कार्यक्रम को वर्ष 2020 में जोड़ा गया है। चूरू जिले में तम्बाकू प्रदाथोर्ं के सेवन से होने वाले दुष्परिणाम व रोकथाम के लिये चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग में राष्ट्रीय तम्बाकू नियंत्रण प्रकोष्ठ का गठन किया गया है। विद्यालयों में जागरुकता कार्यक्रम में अब तक 200 स्कूलों व कॉलेज में डेढ़ लाख से अधिक विद्यार्थियों को तम्बाकू से होने वाले दुष्प्रभाव के प्रति प्रतियोगिता, प्रचार-प्रसार सामग्री वितरण एवं युवाओ में नशे की लत से दूर रहने हेतु जागरुक किया गया है। इसके साथ ही तम्बाकू उत्पाद के विक्रेताओं के साथ 39 कार्यशाला कर कोटपा एक्ट 2003 की पालना करवाई गई है। तम्बाकू नियंत्रण प्रकोष्ठ की ओर से राजकीय कार्यालयों, सार्वजनिक स्थानों को तम्बाकूमुक्त परिसर घोषित करवाने के जिले के समस्त राजकीय विद्यालयों चिकित्सा संस्थानाें, आंगनवाडी केन्द्रों को तम्बाकू मुक्त क्षेत्र घोषित कर पोस्टर का प्रदर्शन करवाया गया है। इस दौरान पुलिस अधीक्षक नारायण टोगस ने कहा कि छोटे-छोटे प्रयोग कर तम्बाकू को छोड़ा जा सकता है। उन्होंने बताया कि सप्ताह में एक दिन तम्बाकू के प्रयोग नहीं करने तथा दूसरों के सामने तम्बाकू उत्पाद का प्रयोग नहीं करने जैसे छोटे उपाय कर प्रारम्भिक तौर पर छोड़ने के प्रयास शुरू किये जा सकते हैं। हास्य अभिनेता ख्याली सहारण ने अपने अनुभव व अभिनय के दौरान हुई कई रोचक बातों से आमजन को जोड़े रखा। राजकीय डेडराज भरतिया चिकित्सालय के अधीक्षक डॉ. एफ.एच. गौरी ने बताया कि सबसे ज्यादा युवा वर्ग आज तम्बाकू की चपेट में आ रहा है। ऎसे में युवाओं को जागृत करने की सबसे अधिक आवश्यकता है।
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मनोज शर्मा ने जिले में तम्बाकू निषेध के लिये चलाये गये अभियान व अब तक की गई कार्रवाई से अवगत करवाया। अतिरिक्त मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. भंवरलाल सर्वा ने बताया कि हर वर्ष 31 मई तम्बाकू निषेध दिवस पर चूरू जिले में नवाचार किया जाता है, जिसे पूरे प्रदेश में सराहना मिलती है। कोरोना काल में लोगों से जुड़ने के लिये वेबिनार सीधा सम्पर्क का जरिया बना है। एनटीसीपी की जिला सलाहकार डॉ. लाड कंवर ने कार्यक्रम के बारे में जानकारी देते हुये वेबीनार से जुड़े लोगों के प्रश्नों का जबाव दिया।

पोस्टर प्रतियोगिता का आयोजन

विश्व तम्बाकू निषेध दिवस पर चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग की ओर से नर्सिग कॉलेज के विद्यार्थियों के द्वारा तम्बाकू के प्रति लोगों को जागरूक करने हेतु विभिन्न प्रकार कि प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया। इसमें पोस्टर प्रतियोगिता के विजेता रक्षा दर्जी बीएससी नर्सिग अंतिम वर्ष रहीं। द्वितीय स्थान पर अनिता बीएससी नर्सिंग अंतिम वर्ष तथा तृतीय स्थान पर कीर्ति शर्मा बीएससी नर्सिग अंतिम वर्ष रही। लेखन प्रतियोगिता में मनोज कुमार बीएससी नर्सिग प्रथम वर्ष प्रथम स्थान पर रहे। द्वितीय स्थान पर शिवानी गहलोत एवं तृतीय स्थान पर मयंक कुमार सैन रहे। प्रश्नोतरी प्रतियोगिता में प्रथम स्थान पर सुरेन्द्र सिंह एवं नरेन्द्र सिंह रहे तथा द्वितीय स्थान पर सोनू कंवर एवं प्रदीप शर्मा रहे तथा तृतीय स्थान पर रवि खाजोतिया रहे हैं। प्रतियोगिता के निर्णायक नर्सिंग कॉलेज प्रिंसिपल दयानन्द बुडानिया, स्वास्थ्य निरीक्षक मुकारब खां, एनटीपीसी की जिला सलाहकार लाड कंवर ने विजेताओं को पुरस्कार प्रदान किए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here