धूमधाम से मनाई स्वामी विवेकानन्द जयन्ती

0
739

चूरू । राष्ट्रीय युवा दिवस के अवसर पर राजकीय बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय बागला, चूरू में किषारियों के साथ जीवन कौषल, स्वास्थ्य षिक्षा पर चर्चा की गई तथा स्वस्थ कैसे रह सकते है के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई। कार्यक्रम के मुख्य वक्ता बजरंग हर्षवाल, अधीक्षक नर्सिग संस्थान ने स्वास्थ्य के विभिन्न पहलुओं पर बातचीत की तथा किषोरियो को स्वस्थ रहने तथा सन्तुलित भोजन के महत्व को विस्तार से समझाया उन्होने किशोर अवस्था में खून की कमी के लिए दी जानने वाली ऑयरन फोलिक एसीड की गोलियो के बारे में चर्चा करते हुए आगामी समय में आने वाले पल्स पोलिया महा अभियान व कृमी मुक्ति दिवस के बारे बताया। जिला समन्वयक लालचन्द रैगर ने कार्यक्रम के आयोजन के बारे में अवगत करवाया तथा जीवन कौशल षिक्षा के बारे में अवगत करवाया। योगाचार्य डॉ. मनोज शर्मा ने जीवन में योग का महत्व क्या है के बारे में जानकारी प्रदान की तथा योग की गतिविधि करके बताई। इस अवसर पर प्राचार्य श्रीमती विजय लक्ष्मी शेखावत जी ने विवेकानन्द जली के जीवन पर प्रकाश डालते हुए अच्छे संस्कार ग्रहण करने एवं स्वास्थ्य के बारे में बताई गई जानकारियों को जीवन में ग्रहण करने के बारे में जानकारी दी। कार्यक्रम में विद्यालय स्टाफ एवं ममता फाउण्डेशन से ,सुनीता,इन्दुबाला एवं किरण मौजुद थी तथा इनके अलावा 400 किषोरियों की भागीदारी रही। इसी क्रम में राज. राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के एक्षन प्लान एवं अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण जिला एवं सेशन न्यायाधीश योगेन्द्र कुमार पुरोहित व पूर्णकालिक सचिव राजेष कुमार दड़िया के निर्देषानुसार हाइब्रो कैरियर इंस्टीट्यूट, चूरू में संस्थापक कपिल स्वामी की अध्यक्षता में राष्ट्रीय युवा दिवस पर विधिक साक्षरता शिविर का आयोजन किया गया। जिसमें संबोधित करते हुए रिटेनर अधिवक्ता सावंरमल स्वामी ने स्वामी विवेकानंद के जीवन-दर्शन पर प्रकाष डालते हुए उपस्थित प्रतिभागियों को स्वामी विवेकानंद के आदर्षों पर चलने का आह्वान किया साथ ही युवाओं से सामाजिक, नैतिक एवं राष्ट्रीय मूल्यों को ध्यान में रखते हुए राष्ट्र के निर्माण में सहयोग करने की अपील की। रिटेनर अधिवक्ता संतलाल सहारण ने पीड़ित प्रतिकर स्कीम व असंगठित क्षेत्र के मजदूरों की सेवा योजना के बारे में जानकारी दी। अध्यक्षीय उद्बोधन में कपिल स्वामी ने उपस्थित प्रतिभागियों को सकारात्मक सोच के साथ प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी करने का आह्वान किया तथा विधिक साक्षरता षिविर की महता पर प्रकाश डाला। अधिवक्ता श्यामलाल सैनी, योगेश शर्मा, पवन सिंह, शिवसिंह आदि ने भी संबोधित किया। पी.एल.वी. मंयक अग्रवाल ने भी सहयोग किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here