राज्य में आंगनबाड़ी केन्द्रों पर सोलर प्लांट स्थापित किये जायेंगे – राजेन्द्र राठौड़

0
916

चूरू। ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्राी राजेन्द्र राठौड़ ने कहा है कि राजस्थान में संचालित आंगनबाड़ी केन्द्रों में पेयजल एवं विधुत व्यवस्थाएं सुनिश्चित करते हुए सोलर प्लांट स्थापित कर आंगनबाड़ी कार्यकत्ताओं की कार्य क्षमता में वृद्धि की जाएगी। ग्रामीण विकास मंत्रीशुक्रवार को मनोरंजन क्लब चूरू में महिला एवं बाल विकास विभाग के तत्वावधान में आईसीटी-आरटीएम के तहत जिले की 4 परियोजनाओं की 973 आंगनबाड़ी कार्यकत्र्ताओं को एन्ड्राॅयड मोबाईल एवं 14 महिला पर्यवेक्षकों को टेबलेट्स वितरण व प्रशिक्षण कार्यक्रम के लिए आयोजित समारोह में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि राजस्थान में आईसीटी-आरटीएम योजना के तहत चूरू सहित 9 जिले का चयन कर आंगनबाड़ी कार्यकत्र्ताओं की कार्य क्षमता में वृद्धि सुनिश्चित की जायेगी। उन्होंने कहा कि डिजिटल इंडिया कार्यक्रम के तहत आंगनबाड़ी कार्यकत्र्ताओं को सूचना संप्रेषण के लिए आधुनिक तकनीक से जोड़ा गया है।

पंचायती राज मंत्राी ने कहा कि मुख्यमंत्राी की मंशा के अनुरूप राज्य के प्रत्येक गांव में आंगनबाड़ी केन्द्रों का संचालन कर प्री-प्राईम स्कूल के रूप में छोटे बच्चों का मानसिक एवं शारीरिक विकास किया जायेगा। उन्होंने कहा कि केन्द्रों में बच्चों को बेहत्तर खाद्य समग्री मुहैया कराने से बच्चों की मृत्यु-दर में कमी आई है। उन्होंने कहा कि गांवों में आंगनबाड़ी कार्यकत्र्ताओं द्वारा धात्राी माताओं को स्वास्थ्य के प्रति जागरुक करने के फलस्वरूप राज्य में 82 प्रतिशत प्रसव सरकारी अस्पतालों में करवाया जा रहा है। जिससे गांवों में आंगनबाड़ी कार्यकत्ताओं की एक पहचान कायम हो रही है।

समारोह में जिला प्रमुख हरलाल सहारण ने कहा कि राज्य सरकार की मंशा के अनुरूप जिले में संचालित आंगनबाड़ी केन्द्रों पर बच्चों का स्वास्थ्य एवं भविष्य तराशने का महत्ती कार्य किया जा रहा है, आवश्यकता है आंगनबाड़ी कार्यकत्र्ता ग्रामीणों को राज्य सरकार की कल्याणकारी योजनाओं का लाभ उठाने के लिए जागरुक करें। भाजपा जिलाध्यक्ष डाॅ. वासुदेव चावला ने कहा कि छोटे बच्चों के मानसिक विकास की जिम्मेदारी आंगनबाड़ी कार्यकत्र्ताओं की है। इस अवसर पर जिला महिला एवं बाल विकास विभाग के उप निदेशक रामावतार शर्मा ने विभाग द्वारा संचालित परियोजनाओं की जानकारी देते हुए कहा कि आईसीटी – आरटीएम योजनान्तर्गत एण्ड्राॅयड मोबाइल प्रदान करने से आंगनबाड़ी कार्यकत्र्ताओं की कार्यक्षमता में वृद्धि होने के साथ ही कार्यों की प्रमाणिकता सिद्ध होगी। समारोह में ग्रामीण विकास मंत्राी राजेन्द्र राठौड़ ने जिले की आंगनबाड़ी कार्यकत्र्ताओं को एण्ड्राॅयड मोबाइल एवं महिला पर्यवेक्षकों को टेबलेट्स वितरित किये। इससे पूर्व अतिथियों का माल्यार्पण एवं स्मृति चिन्ह भेंटकर सम्मानित किया गया। इस अवसर पर जिला आयुर्वेद अधिकारी डाॅ. अशोक शर्मा, डाॅ. कमल वशिष्ठ, समाजसेवी गौरीशंकर मण्डावेवाला, विक्रमसिंह कोटवाद, सीडीपीओ सहित विभाग के अधिकारी, कार्मिक एवं आंगनबाड़ी कार्यकत्र्ता उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here