डॉ. घनश्याम नाथ कच्छावा की नई पुस्तक “अटकळ” पर आखर में चर्चा 22 अगस्त को

0
536

सुजानगढ़। स्थानीय चर्चित सृजनधर्मी व समाजसेवी डॉ. घनश्याम नाथ कच्छावा की नव प्रकाशित राजस्थानी लघुकथा संग्रह की पुस्तक “अटकळ” पर आखर पोथी कार्यक्रम में 22 अगस्त रविवार को सुबह 11 बजे चर्चा होगी। आखर पोथी आयोजन के सूत्रधार जयपुर के प्रमोद शर्मा ने बताया कि इस आयोजन की अध्यक्षता बीकानेर के वरिष्ठ साहित्यकार कमल रंगा करेगे और पुस्तक पर उदयपुर की डॉ. करूणा दशोरा समीक्षा प्रस्तुत करेगी। साथ ही आयोजन मेंनोहर के युवा रचनाकार आशीष पुरोहित आयोजन की प्रस्तावना रखेगे। प्रदशिक्षा पारीक के पुरोवाक् से शुरू होने वाले लगभग एक घंटे के इस फेसबुक लाइव आयोजन में कृतिकार डॉ. घनश्याम नाथ कच्छावा अपनी चुनिंदा लघुकथाओं का वाचन भी करेंगे। गायत्री प्रकाशन बीकानेर से प्रकाशित अठयासी पृष्ठ की इस पुस्तक में चौसठ लघुकथाएँ हैं। पुस्तक पर फ्लेप कमल रंगा और हरीश बी. शर्मा ने लिखा है और साहित्य अकादमी नई दिल्ली के राजस्थानी भाषा परामर्श मंडल के संयोजक मधु आचार्य आशावादी ने पुस्तक की भूमिका लिखी हैं। इस पुस्तक में जैन मुनि जय कुमार ने अपने आशीर्वचन में इसे गागर में सागर भरने वाली पुस्तक कहा हैं। डॉ. घनश्याम नाथ कच्छावा ने यह पुस्तक वरिष्ठ साहित्यकार भँवरसिंह सामौर ,चूरू और दिवंगत समाजसेवी कन्हैया लाल डूँगरवाल को समर्पित की हैं। अटकळ पुस्तक के पोथी चर्चा कार्यक्रम से देश -विदेश से अनेकानेक लोगों के जुड़ने की सम्भावना हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here