राजस्थानी फिल्मों को अनुदान देने की मांग, मुख्यमंत्री को पत्र लिखा

0
541

चूरू। फिल्म निर्माता राजेन्द्रसिंह शेखावत ने राजस्थानी भाषा की फिल्मों को अनुदान देने की मांग करते हुए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को पत्र लिखा है। शेखावत ने लिखा है कि आपकी घोषणा के अनुसार राजस्थानी फिल्मों को अभी तक अनुदान नहीं मिला है। इस कारण से फिल्म निर्माताओं को बहुत परेशानी हो रही है। साथ ही राजस्थानी भाषा की फिल्मों को अनुदान नहीं मिलने से सरकार और आपकी छवि भी खराब हो रही है। कोविड 19 महामारी के समय सरकार को चाहिए कि राजस्थानी सिनेमा को बढ़ावा देने हेतु शीघ्र ही फिल्मों को अनुदान जारी करे। शेखावत ने लिखा है कि कला एवं संस्कृति विभाग जयपुर सचिवालय में विधिवत रूप से केंद्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड की ओर से यू प्रमाण पत्र प्राप्त फिल्म बावळती को चार माह पहले जमा करवा दिया था। कला एवं संस्कृति विभाग जयपुर सचिवालय में कार्यरत अधिकारियों का कहना है कि उनकी तरफ से कोई देर नहीं हो रही है। अधिकारियों ने बताया कि फिल्म अनुदान देने के लिए गठित समिति की अभी तक कोई बैठक ही नहीं की गई है। इस मामले में वे कुछ नहीं कर सकते हैं। कुल मिलाकर अब तक फिल्मों को अनुदान मिल जाना चाहिए था। फिल्मों को अनुदान जारी करने में देरी करना फिल्म निर्माताओं और खुद मुख्यमंत्री की घोषणा के साथ धोखा है। इस प्रकार फिल्मों का अनुदान अटकाने वाले ना तो राजस्थानी फिल्मों के हितैषी हैं और ना ही मुख्यमंत्री या सरकार के हितैषी हैं। शेखावत ने बताया कि उनके चंद्र फिल्म्स प्रोडक्शन के बैनर तले बनी दूसरी फिल्म बावळती सहित अन्य निर्माताओं की दर्जनों फिल्में अनुदान मिलने का इंतजार कर रही हैं। शेखावत ने कहा कि लंबे समय तक अनुदान राशि को अटकाए रखना राजस्थानी सिनेमा के हित में नहीं है। शेखावत ने राजस्थानी फिल्मों के निर्माताओं से संगठित होकर संघर्ष करने का आव्हान किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here