तैंतालीस इंच के ताहिर को शिविर में मिले तेरह लाभ

0
186

जिला कलक्टर साँवर मल वर्मा ने लधासर में प्रशासन गांवों के संग अभियान शिविर का निरीक्षण कर बांटे पट्टे, विधायक अभिनेष महर्षि, पूर्व विधायक मकबूल मंडेलिया, पूर्व प्रधान पूसाराम गोदारा ने भी की शिविर में शिरकत

चूरू। जिले के रतनगढ़ ब्लॉक के लधासर ग्राम पंचायत मुख्यालय पर आयोजित शिविर 43 इंच लंबाई के दिव्यांग ताहिर और
उसकी पत्नी फातिमा के लिए वरदान साबित हुआ। शिविर में आए ताहिर को राज्य सरकार के 13 विभागों की योजनाओं का लाभ
मिला। लधासर के शिविर में आए ताहिर पर जब शिविर प्रभारी एसडीएम विजेंद्र चाहर की नजर पड़ी तो उन्होंने उसे पास बुलाया और पूछताछ की। पूछताछ में उन्हें लगा कि वह सरकार की अनेक योजनाओं का लाभार्थी हो सकता है तो उन्होंने शिविर में मौजूद सभी विभागों को उसकी पात्रता जांच कर लाभान्वित करने के निर्देश दिए। इस पर आयोजना विभाग की ओर से उसका जन आधार कार्ड अपडेट कर उसकी नवविवाहिता पत्नी फातिमा का नाम जोड़ा गया। चिकित्सा विभाग की ओर से फातिमा को दिव्यांगता प्रमाण पत्र दिया गया। तहसीलदार ने ताहिर को आय प्रमाण पत्र जारी किया। इसके अलावा पंचायती राज विभाग की ओर से राशन कार्ड में उसकी पत्नी का नाम जोड़ा गया। परिवहन विभाग की ओर से निःशुल्क यात्रा के लिए उन्हें पास जारी किया गया। बिजली का बिल अधिक आने की शिकायत करने पर उसका मीटर विद्युत निगम कार्मिकों ने चैक किया। सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग की मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना में ऋण के लिए उसका आवेदन करवाया गया। पशुपालन विभाग ने उसकी बकरियों के लिए दवा उपलब्ध करवाई तो कृषि विभाग ने सॉयल हेल्थ कार्ड के लिए उसके खेत की मिट्टी का नमूना लिया गया। वन विभाग की ओर से घर-घर औषधि योजना अंतर्गत उसे औषधीय पौधे वितरित किए गए तथा श्रमिक विभाग की योजना के तहत उसका ई-श्रमिक कार्ड बनाया गया। ताहिर ने बताया कि उसका विवाह 3 महीने पहले ही उसके जितनी ही लंबाई की फातिमा से हुआ। शिविर के दौरान स्वयं जिला कलेक्टर साँवरमल वर्मा ने फातिमा को दिव्यांगता प्रमाण पत्र प्रदान किया तथा ताहिर व फातिमा से बातचीत कर शिविर में मिले लाभ के बारे में पूछताछ की। ताहिर ने बताया कि उसने सपने में भी नहीं सोचा था एक ही शिविर में इतनी सारी योजनाओं का लाभ किसी व्यक्ति को मिल सकता है।साँवरमल वर्मा ने कैंप के दौरान विभिन्न विभागों की ओर से लगाए गए काउंटरों का का निरीक्षण किया तथा विभागीय अधिकारियों व कर्मचारियों को आवश्यक निर्देश दिए। इस मौके पर जिला कलेक्टर ने अनेक ग्रामीणों को पट्टे व अन्य लाभ वितरण किया और योजनाओं की जानकारी देते हुए कहा कि ग्रामीण जागरूक होकर शिविर में दी जा रही सुविधाओं का लाभ उठाएं। जिला कलेक्टर ने अधिकारियों से कहा कि अंतिम आवेदक की परिवेदना का निस्तारण करने के बाद बाद ही शिविर का समापन करें।विधायक अभिनेष महर्षि ने कहा कि ग्राम पंचायत स्तर पर शिविर आयोजित कर ग्रामीणों को लाभान्वित करने की भावना निस्संदेह अच्छी है लेकिन इस भावना के अनुरूप ग्रामीणों को लाभ मिले, यह अधिकारियों को सुनिश्चित करना चाहिए। लधासर में पशु चिकित्सालय खोलने के अनुरोध पर विधायक ने पशुपालन मंत्री से दूरभाष पर बात की और पशुपालन मंत्री द्वारा आश्वस्त किए जाने पर लधासर में पशु चिकित्सालय खोलने की घोषणा शिविर में की।पूर्व विधायक मकबूल मंडेलिया, इंद्राज खीचड़, पूर्व प्रधान पूसाराम गोदारा, रमेश इंदौरिया ने शिविर में शिरकत कर ग्रामीणों को पट्टे वितरित किए। इंद्राज खीचड़ ने क्षेत्र की विभिन्न समस्याओं व आवश्यकताओं से अवगत कराया और ग्रामीणों से कहा कि वे शिविर में अपनी जायज आवश्यकताओं से अवगत कराएं ताकि उन पर काम हो सके।
एसडीएम विजेंद्र चाहर ने अभियान के दौरान किए जा रहे कार्यों की जानकारी दी। इस दौरान विकास अधिकारी दिलीप कुमार, तहसीलदार अशोक कुमार, कल्याण सिंह, प्रधानाचार्य संदीप व्यास, सरपंच संतोष कंवर, कृष्ण सिंह, देवीसिंह राजपुरोहित सहित अधिकारी, कर्मचारी, जनप्रतिनिधि, ग्रामीण मौजूद थे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here