गौरीसर में विद्यार्थियों को बताए प्लास्टिक के दुष्प्रभाव

0
281

चूरू। जिला कलक्टर संदेश नायक की पहल पर जिले के राजकीय कार्यालयों में सिंगल यूज प्लास्टिक पर रोक की मुहिम रंग ला रही है। इसके साथ ही विभिन्न स्तरों पर जागरुकता कार्यक्रम भी संचालित किए जा रहे हैं।
इसी क्रम में सांगासर के राजकीय उ. मा. आदर्श विद्यालय में व्याख्यान आयोजित कर डिस्पोजेबल प्लास्टिक, कैरी बैग, गिलास, कप, बोतल आदि में खाद्य पदार्थों को रख कर सेवन करने से शरीर पर होने वाले दुष्प्रभावों को लेकर चर्चा की गई। आयुर्वेद चिकित्सा अधिकारी लीलाधर शर्मा ने सिंगल यूज प्लास्टिक के दुष्प्रभावों पर चर्चा की और कहा कि इसके निर्माण से लेकर उपयोग व निस्तारण, सभी अवस्थाओं में यह पर्यावरण के लिए अत्यंत नुकसानदेह है। उन्होंने कहा कि प्रकृति हमारा बहुत खयाल रखती है, इसलिए हम सभी को जल, जंगल और जमीन के संरक्षण की दिशा में जागरुक होना बहुत जरूरी है।
प्रधानाचार्य सुरेश कुमार शर्मा ने बताया कि हाल ही में जिला कलेक्टर द्वारा राजकीय संस्थानों में प्लास्टिक के डिस्पोजेबल सामान उपयोग पर रोक लगाई गई है जो अत्यंत सराहनीय है। इस दौरान पोलीथिन व सिंगल यूज प्लास्टिक के विकल्पों पर भी विस्तार से चर्चा की गई। इस अवसर पर वरिष्ठ कम्पाउंडर जोखी राम कस्वां, विद्यालय के मदनलाल कौशिक, रतन लाल, व्याख्याता, मदनलाल टालनिया स्टाफ सचिव,, अध्यापक नारायण प्रसाद, अध्यापिका सुमन कंवर सहित विद्यालय के अध्यापक अध्यापिकाएं, विद्यार्थी उपस्थित थे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here