संसार से वैराग्य की प्राप्ति कैसे ?

0
133

पूज्यपाद जगदगुरु शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती जी महाराज प्रवचन अंश।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here